राजीव की बीवी के साथ देसी चुदाई

desi desi stories, kamukta

यह कहानी उदयपुर के रहने वाले सुरजीत की है। सुरजीत एक अच्छे परिवार से था। उसके परिवार में उसके पिताजी, उसकी माता जी और एक बहन रहती थी। और उसके पड़ोस में सीमा नाम की एक लड़की रहती थी, जो रिश्ते में सुरजीत की भाभी लगती थी। सीमा का पति दूसरे शहर में रहता था। सीमा वहां अपने बेटे के साथ रहती थी। उसका 4 साल का बेटा था। वह उदयपुर में नौकरी करती थी। सुरजीत की एक गर्लफ्रेंड थी, जिसका नाम रेनू था। वह सुरजीत की कंपनी में काम करती थी। दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। दोनों का शादी करने का विचार था, लेकिन यह बात अभी  सुरजीत के घरवालों को पता नहीं थी। एक बार सुरजीत की गाड़ी खराब हो गई थी। तो वह बस से ऑफिस के लिए निकला। उसी बस में उसकी भाभी सीमा भी थी। उस दिन दोनों साथ में ऑफिस गए और घर भी दोनों साथ ही आए। सीमा भी सुरजीत के घर आने जाने लगी थी।

सुरजीत भी सीमा से खूब घुल मिल गया था। अब दोनों साथ में ऑफिस जाने लगे थे। सुरजीत सीमा को अपनी गाड़ी से सीमा के ऑफिस छोड़ देता और घर आते समय उसे भी वहां से घर ले आता। दोनों में नजदीकियां बढ़ने लगी थी। वह यह भूल गया था कि वह किसी लड़की से प्यार करता है। सुरजीत ऑफिस में रेनू के साथ समय बिताता लेकिन उसने कभी रेनू को अपने भाभी के बारे में नहीं बताया था। सुरजीत की भाभी सीमा सुरजीत से धीरे धीरे मिलने लगी। सुरजीत अब अधिकतर समय सीमा के साथ बिताता। दोनों ऑफिस के बाद घूमने भी जाते और साथ में खाना खाते। सुरजीत घर में अपने घरवालों के सामने सीमा के साथ भाभी की तरह बात करता था। सीमा और सुरजीत दोनों एक दूसरे को धीरे-धीरे पसंद करने लगे। सुरजीत और सीमा एक दूसरे के प्यार में इतनी खो गए कि उन्हें यह भी याद नहीं की वह क्या कर रहे हैं। सीमा ने एक बार भी अपने पति के बारे में नहीं सोचा और सुरजीत ने रेनू के बारे में। फिर एक दिन रेनू ने सुरजीत को मिलने बुलाया। जब सुरजीत रेनू से मिलने गया तो उसने बताया कि वह मां बनने वाली है! यह सुनकर सुरजीत हैरान हो गया। रेनू सुरजीत से शादी करना चाहती थी। लेकिन वह तो सीमा के प्यार में था। रेनू सुरजीत से शादी के बारे में पूछने लगी कि हम शादी कब कर रहे हैं? इस बार तो सुरजीत ने बात को टाल दिया। फिर यह बात उसने अपनी भाभी सीमा को बताई, तो सीमा ने सुरजीत को रेनू से शादी करने के लिए राजी किया। ताकि सीमा और सुरजीत के रिश्ते के बारे में किसी को शक ना हो। सुरजीत रेनू से शादी करने के लिए तैयार हो गया। फिर उसने अपने घरवालों को रेनू के बारे में बताया सुरजीत के घरवाले शादी के लिए तैयार हो गए।

सुरजीत ने रेनू से शादी कर ली। शादी तो उसने रेनू से कर ही ली लेकिन वह तो सीमा से प्यार करने लगा था। वह शादी के बाद भी छुप छुप के सीमा से मिलने लगा। सीमा और सूरजीत दोनों सेक्स करते। सुरजीत की शादी के बाद भी सीमा और सुरजीत दोनों साथ में ऑफिस जाते थे कुछ समय बाद रेनू भी ऑफिस जाने लगी फिर एक दिन रेनू ने सुरजीत से ऑफिस साथ जाने को कहा सुरजीत घबरा गया फिर उसने रेनू से कहा कि आज वह ऑफिस नहीं जाएगा बल्कि ऑफिस के काम से कहीं बाहर जाएगा। उसके बाद रेनू ऑफिस के लिए निकल गई फिर यह बात उसने अपनी भाभी सीमा को बताई तो सीमा ने कहा दूसरे दिन तुम दोनों साथ में जाना और मैं तुमसे आधे रास्ते में लिफ्ट लेकर बैठ जाऊंगी सुरजीत ने कहा ठीक है फिर दूसरे दिन ऐसा ही हुआ जब रेनू ने सुरजीत से सीमा के बारे में पूछा तो सुरजीत ने कहा कि वह हमारे पड़ोस में रहती है रिश्ते में हमारी भाभी लगती है। ट्रेनों ने अब सीमा के बारे में पूछना बंद कर दिया था लेकिन वह दोनों आपस में मिलते रहते थे इसी प्रकार एक दिन सुरजीत सीमा के घर पर चला गया और वही उसको किस कर रहा था। रेनु सुरजीत के पीछे पीछे चली गई और उसने यह देखा। उसके बाद रेनू सुरजीत को देख कर बहुत ही गुस्सा हो गई।  उसने वहां जाकर सीमा को भी भला बुरा बोलना शुरु कर दिया। सुरजीत भी अपने किए पर शर्मिंदा था। लेकिन वह ना तो रेनू को छोड़ सकता था ना ही सीमा को फिर उसने उन दोनों को समझाया की मैं तुम दोनों के साथ रहना चाहता हूं। लेकिन कैसे मैं तुम दोनों के साथ रहूं अगर तुम दोनों मेरे साथ नहीं रहना चाहती तो मैं कहीं दूर चला जाता हूं। इस बात से बहुत दोनों ही इमोशनल हो गई और कहने लगी नहीं नहीं तुम यहीं पर रहो हम दोनों तुमसे प्यार करते हैं।

अब जब दोनों ही राजी हो चुकी थी। तो सुरजीत ने सीमा को किस कर दिया और रेनू भी पास आकर सुरजीत को किस करने लगी। सुरजीत उन दोनों के गले मिल गया। रेनु प्रेग्नेंट थी तो सुरजीत ने रेनू की सलवार को उतार दिया और उसको घोड़ी बनाकर उसकी गांड के छेद में अपना घुसा दिया। जिससे रेनू को मजा आ रहा था। और सुरजीत भी खुश था यह सब सीमा अपने हाथों से करवा रही थी। अब जब रेनू की गांड से सुरजीत ने बाहर निकाला तो सीमा ने उसके लंड को अपने मुंह में ले लिया और उसको अच्छे से चूसने लगी। यह सुरजीत को बहुत ही अच्छा लग रहा था। रेनू बीच-बीच में अपने हाथ से सुरजीत का लंड हिला देती थी। काफी देर तक सीमा ने सुरजीत के साथ ओरल सेक्स किया। यह सब हो जाने के बाद सुरजीत ने सीमा की योनि में अपना लंड डाल दिया। जिससे सीमा को बहुत अच्छा लगने लगा और वह खुश हो रही थी कि रेनू ने भी अब सुरजीत को परमिशन दे दी है यह सब करने की सुरजीत भी जोर-जोर से झटके लगा रहा था। जिससे कि सीमा की चीख निकल रही थी। सुरजीत भी खुश हो रहा था। थोड़ी देर बाद सुरजीत का झड़ने वाला था तो उसने सीमा की योनि में ही अपना माल गिरा दिया। रेनू ने सुरजीत का लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको ओरल सेक्स करने लगी।

रेनू ने गले तक सुरजीत का लंड ले रखा था। जिससे कि रेनू के मुंह से झाग निकल जाता और सुरजीत को मजा आ रहा था। यह सब करने के कुछ ही देर बाद सुरजीत का दोबारा से झडने को हो गया उसने रेनू के मुंह में अपना वीर्य गिरा दिया। जिसको कि रेनू ने निगल लिया। अब यह सब कर कर सुरजीत भी थक गया था। उसका लंड भी मुरझा गया था। वह एकदम मरी हुई स्थिति में चला गया था। किंतु सीमा का मन अभी भी भरा नहीं था। तो उसने सुरजीत के लंड को दोबारा से अपने हाथों से पकड़ा और जोर-जोर से आगे पीछे करने लगी। उसको अपने मुंह में लेकर सकिंग करने लगी। कुछ ही देर बाद सुरजीत का दोबारा से सख्त हो गया। सीमा ने अपनी गांड को उठाकर समीर के लंड से रगडने लगी। अब सुरजीत ने रेनू से सक करवाया और सीमा की चूत मे डाल दिया। उसने सीमा को कसकर पकड़ लिया और जोर-जोर से धक्के मारने लगा।

डेढ़ सौ झटके के बाद सुरजीत का गिरना को हो गया और उसने सीमा की योनि में गिरा दिया। उसके बाद तीनों वहां से खड़े उठे और उन्होंने साफ सफाई की उसके बाद रेनू और सुरजीत अपने घर चले गए। सीमा अपने घर में ही रही उसके बाद से वह तीनों साथ में ही ऑफिस जाते और साथ में ही रात को सोने लगे। जब सीमा के पति घर आते तो सिर्फ उसी वक्त वह सुरजीत से अलग रहती नहीं तो वह सुरजीत और रेनू एक साथ ही रहने लगे। उन तीनों को एक दूसरे का साथ बहुत ही अच्छा लगने लगा था। थोड़े समय बाद सीमा भी प्रेग्नेंट हो गई। रेनू के भी बच्चा हो गया था। जो सीमा का बच्चा था वह सुरजीत का ही था। जिस दौरान रेणु प्रेग्नेंट थी उस समय सीमा ने सुरजीत को अपनी योनि के बहुत मजे दिए और जिस समय सीमा प्रेग्नेंट हुई उस समय रेनू ने सुरजीत की लंड की भूख को मिटाया। इस प्रकार वह तीनों एक दूसरे को बहुत ही अच्छे से चाहने लगे थे और एक दूसरे के साथ सेक्स करते थे। थोड़े समय बाद यह बात सीमा के पति को भी मालूम चल गई और वह सीमा पर काफी गुस्सा हुआ पर सीमा ने उसे समझा लिया था कि वह सुरजीत से प्यार करती है तो उसका पति समझ गया। वह चुदने के लिए सुरजीत के पास भेज देता।