जवान लडकियों की चूत की मस्त चुदाई भाग -2

Jawan ladkiyon ki chut ki mast chudai part 2:

अगले दिन वो क्लास ख़त्म होने के बाद आई | और मेरे पास आकर बैठ गई | और बोली सर मेरी दो फ्रन्ड्स हैं | वो भी चुदने की चाह में मरी जा रही है | क्या आप उनके भी डाउट दूर करोगे | मैंने सोचा ये तो मेरे लिए ऑफर है | मैंने कहा मै तुम्हारे लिए कुछ भी करूँगा | उसने कहा ठीक है फिर कल शाम फिर रविवार को पांच सितारा होटल में पालन है मै आपको फ़ोन करुँगी | इतना कह कर वो चली गई | मै तो ख़ुशी के मारे मारा जा रहा था |
अब तो बस रविवार का इंतजार था |

रविवार को शाम को मुझे सीमा का फ़ोन आया मैं तो बस फ़ोन का ही वेट कर रहा था | मै तुरंत रिक्शे से वहाँ पहुच गया | वहां मैं फिर होटल के अन्दर गया | और बताये हुवे कमरे में पहुँच गया | मैंने बेल बजाई तो सीमा ने दरवाज़ा खोला | आज उसने वन पीस पहना हुआ था जिसमे वो और भी हॉट दिख रही थी | जैसे ही अन्दर गया तो देखा की दो लड़कियां बैठी हुई थी | उनकी भी उम्र अभी 18 – 19 की होगी वो दोनों भी बहुत सेक्सी थी | एक का नाम निशा और दूसरी का नाम रिंकी था | मै तो बस ये सोच कर खुश हो रहा था की आज मै 3 – 3 चूत एक साथ बजाऊंगा | फिर उन लोगों ने पहले खाना मंगवाया फिर खाना खाने के बाद वो तीनो आकर मेरे पास बैठ गई | और फिर एक रोमेंटिक फिल्म देखने लगे | धीरे धीरे वो मेरे और करीब आने लगी | तभी रिंकी कड़ी हुई | और मैं रिंकी के पीछे खड़ा हो गया और उसकी कमर के ऊपर हाथ रख दिया | उसकी साँसे फूल रही थी | वो पीछे तिरछी नजरों से देख रही थी | अब सीमा और निशा भी मुझसे आकर लिपट गई | अब मैंने अपने एक हाथ की रिंकी की गांड पर रख दिया वो आह्ह्ह्ह.. कर बैठी लेकिन कुछ नहीं बोली | मैंने धीरे धीरे से उसकी गांड को सहलाने लगा | वो लम्बी साँसे ले रही थी | मैंने उसके स्कर्ट को थोडा ऊपर किया | मैंने पेंटी के अन्दर ऊँगली डाल के उसे थोडा ऊपर किया | रिंकी ने पीछे मुड के देखा तो मैंने मुहं के ऊपर ऊँगली रख के उसे चुप रहने को कहा | वो स्माइल के साथ आगे की ओर झुक गई |

मैं ऊँगली अन्दर डाल के उसकी चूत और गांड के छेद के साथ खेलने लगा | रिंकी की सेक्सी चूत ने पानी छोड़ दिया था | उसका छेद काफी टाईट था और वो सिसकने लगी थी | उसकी सिसकियों को सुन के सीमा रिंकी की तरफ देखने लगी | निशा की और मेरी नजरें मिली और वो हंसती हुई आगे देखने लगी | रिंकी की चूत को तडपा के मैं उठ गया |

मैं निशा के पास आया और उसके स्कर्ट को उठाया | वो साली थोडा पीछे को हुई, जैसे अपनी गांड मुझे पेश कर रही हो | मैंने स्कर्ट उठा के देखा तो उसकी पेंटी छोटी और ब्लेक थी | मैंने उसकी गांड भी सहलाई | फिर मैने तीनो गर्ल्स के स्कर्ट और पेंटी को उतार के उन्हें नंगा कर दिया | बेड के ऊपर बैठ के मैंने कहा, अब तुम लोग इधर देखो | आज मैं तुम लोगों के सारे डाउट क्लियर कर दूंगा | और जब वो मेरी तरफ मुड़ी तो मैंने अपना बड़ा लंड बाहर निकाल के रखा हुआ था | तीनो ने एक दुसरे की तरफ देखा | और मुस्कुराई |और फिर तीनो पास नीचे फर्श पर अपने घुटनों को लगा के बैठ गई | रिंकी को सर से पकड के मैंने उसे ऊपर किया | और उसके गुलाबी होंठो के ऊपर अपने प्यार का ठप्पा लगाने के लिए उसे चूम लिया | शायद वो पहली बार लिप किस कर रही थी |

निशा ने दूसरी तरफ मेरे लंड को अपने होंठो से चूसा | और सीमा भी उसके साथ हो ली | दोनों मेरे लंड को चूस रही थी | मैंने रिंकी के टॉप में हाथ डाल के उसके बूब्स दबाये वो आह्ह्ह कर उठी | उसके बूब्स एकदम छोटे और अविकसित से थे | मैं उसके बटन खोले और बूब्स देखने लगा | फिर मैंने उसके बूब्स को सक किया उसकी छोटी छोटी निपल्स अब ऊपर को उठ रही थी | मैंने रिंकी की चूत पर एक हाथ रखा और उसे हिलाने लगा | उसकी चूत में से पानी बहार होने लगा था |वो तीनो खड़ी हो के कपडे उतारने लगी | उतने में मैं भी नंगा हो गया |

निशा तीनो में सब से शर्मीली सी थी | मैंने उसे इशारा कर के अपने पास बुलाया और उसे अपनी गोदी में बिठा लिया | उसके बूब्स पकडे तो वो सिहर उठी | फिर मैंने रिंकी को कहा, तुमने मेरे लंड का स्वाद नहीं लिया हे तुम आ जाओ | रिंकी ने घुटनों के ऊपर बैठ के मेरे लंड को मुहं में ले लिया | वो सुपाडे के साथ आधे लंड को मुहं में भर के सक करने लगी थी |और मैं सिसकियाँ रहा था मजे से | सीमा मेरे पास ही खड़ी थी | वो अपने ही बूब्स के साथ खेल रही थी | मैंने कहा, आराम से चुसो रिंकी |

रिंकी ने लंड को हिलाया और बड़े प्यार से उसे चूमने लगी | मेरी हालत एकदम उत्तेजना से भरी हुई थी | मैंने रिंकी को रोक दिया | और फिर निशा को बुला के उसे अपने लंड को हिलाने के लिए कहा | निशा ने दोनों हाथ से मेरे लंड को पकड के उसका मर्दन किया | तीनो गर्ल्स की चूत मेरे सामने थी और मेरे मुहं में पानी आ गया था उन्हें देख के | मैं रिंकी के पास जा के मैंने उसके कान में कहा | पहले थोडा दर्द होगा फिर मज़ा आयेगा | और दो ऊँगली डाल के उसकी चूत को हिलाने लगा | रिंकी को बड़ी मस्ती चढ़ गई थी | मैंने थूक लगा कर अपना लंड उसके चूत में डाल दिया | और धक्के देने लगा | रिंकी के मुहं से दर्द भरी सीत्कार निकल पड़ी ओह्ह्ह.. बाप रे अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह ईईई अह्ह्ह्हह्ह मर गई मैं तो! |

मैंने लंड को अभी तो 20% ही अन्दर किया था | उसकी चूत बहुत ही टाईट थी | और लंड को अजब सी खुमारी चढ़ रही थी उसके अन्दर घुस के | थोड़ी देर बाद मैं झटके मरने लगा |मैंने उसे पूछा अब दर्द तो नही हो रहा है तो वो बोली की अब दर्द कम हुआ है | मैंने उसके बुब्स को पकड के धक्का दिया तो पूरालंड उसकी चूतमें घुसा गया | वो फिर से दर्द में तडप उठी | लेकिन अब उसे पता था की सेक्स का ये दर्द टेम्पररी ही था | इसलिए वो ज्यादा चिल्लाई नहीं | लेकिन उसकी चूत से खून निकल गया था |

एक मिनिट रुक के मैंने फिर से धक्का लगाया और रिंकी की सेक्सी चूत में पूरा लंड पेल दिया | वो आह्ह अह्ह्ह.. ओह्हो… आह्ह्ह्ह.. कर रही थी | और मैंने उसके शोल्डर और नेक पर किस करने लगा था | सीमा और निशा देख रही थी | तभी मैंने सीमा को बुलाया और कहा की तुम रिंकी के बूब्स चुसो | और निशा को नीचे बिठा के मैंने कहा, नीचे से रिंकी की चूत को चाटो तुम |वो दोनों के आने से रिंकी की अन्तर्वासना और भी जागी | अब वो सामने से अपनी गांड को हिला रही थी | मेरे लंड के ऊपर मस्त प्रेशर बना हुआ था इस वर्जिन चूत से | और फिर मैं धक्के लगाने लगा | नीचे निशा चूत चूस रही थी और मेरा लंड अब पिंकी की मस्त चूत को ठोक रहा था |

रिंकी खुद भी चुदासी हो चुकी थी | वो अपनी गांड हिला के मरवा रही थी | सीमा और निशा भी पुरे आनंद से रिंकी को लिक और सक कर रही थी | पुरे कमरे में मेरी और पिंकी की मादक सिसकियाँ गूंज रही थी | तभी रिंकी की चूत से झड़ गई |

.

इसी तरह मैंने फिर सीमा और उसके बाद निशा की चूत को बजाया | वो बहुत खुश थी | ऐसे फिर पूरी रात मैंने जम कर उन तीनो हसीनाओ को चोदा और गांड भी मारी |