अजब प्रेम की गजब कहानी

kamukta, desi sex stories

और मेरे भाई लोग कैसे हो तुम सब ? बहन लोग इसलिए नहीं बोलूँगा क्यूंकि मुझे चूत पसंद है और मेरी कोई बहन नहीं है | ये बस उनके लिए है जो यहाँ चुपके चुपके कहानी पढ़ते हैं | अबे बस कहानियां ही पढ़ते रहोगे या कभी चुदाई भी मचाओगे | खैर अपना क्या है हम को तो चुदाई मिल जाती है | मेरा नाम जतिन मरवाहा है और मैं कटंगी का रहते वाला हूँ | मेरी उम्र 20 साल है और मेरा ग्रेजुएशन चल रहा है | बस यही आखिरी साल है फिर तो आगे जिन्दगी चोदेगी | मैं दिखने में गोरा हूँ और अभी तक मेरी दाड़ी मूछ नहीं आती है | हाँ आप लोग मुझे चिकना या मीठा बोल सकते हो | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मैं पतला दुबला हूँ लेकिन मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 2.5 इंच मोटा है | मैं इस साईट पर काफी समय कहानियां पढता आ रहा हूँ और मुझे इसमें सबसे ज्यादा गे वाली कहानी अच्छी लगती है क्यूंकि मैं एक गे हूँ | आज मैंने सोचा कि आप लोगो को अपनी कहानी लिख कर अपनी चुदाई के बारे में बताऊँ | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और सच्ची घटना है जो मेरे दोस्त के साथ हुई तो अब मैं अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना तब की है जब मैं कॉलेज के सेकंड ईयर में था | मेरे घर में मैं, मम्मी, पापा रहते हैं | मैं अपने घरवालो की एकलौती संतान हूँ | मेरे पापा चाहते थे कि लड़की पैदा हो और मेरी मम्मी चाहती थी कि लड़का पैदा हो और देखो भगवान् की लीला | उन दोनों की मनोकामना पूरी हो गई | लड़का भी हुआ और लड़की जैसी चाल चलन वाला भी | मैं पहले मीठा नहीं था लेकिन पता नहीं मुझमे ऐसा क्या हुआ कि मुझे लड़को के साथ रहना उनसे बाते करना और उनके साथ कहीं भी जाने में जब टच होता था तो वो मुझे बहुत अच्छा लगता था | एक बार एक लड़की ने मुझे प्रोपोस भी किया था लेकिन मैंने उसे मना कर दिया था क्यूंकि मुझे लड़कियाँ अच्छी नहीं लगती | मुझे पता है कि एक दिन मुझे शादी लड़की से करना पड़ेगा लेकिन सच बताऊँ तो दोस्तों काश मैं किसी लड़के से शादी कर सकता तो अपने दोस्त संजू से करता |

संजू मेरा एक सबसे अच्छा और सबसे पुराना दोस्त है | वो भी मेरी ही तरह मसकली ही है | उसे भी मेरी तरह लड़के ही पसंद है और इस बात का मुझे तब पता चला जब हम सभी कहीं घूमने जा रहे थे और वो मेरे जिस दोस्त के पीछे बैठा हुआ था और वो संजू उससे एक दम चिपक कर बैठा हुआ था और बार बार उसकी जांघ पर हाँथ फेर देता या फिर कंधे पर हाँथ से दबा देता | ये देख कर मैं पूरा समझ गया की ये साला भी मेरी तरह ही मीठा है | पर मैंने उससे कभी कुछ कहा नही इस बारे में | फिर एक बार हमारे कॉलेज में कुछ प्रोग्राम था तो एक लड़का प्रवीण प्रोग्राम प्रेजेंट करने आया और मैं और संजू अगल बगल ही बठे थे | जब हमने उसको देखा तो बस उसके बारे में ही बात करने लगे और उसकी बहुत तारीफ़ कर रहे थे | इन्ही सब बातो से उसको भी मालूम पड़ गया कि मैं भी मीठा ही हूँ | संजू घर में अकेले रहता था तो एक बार मैं उसके पास ऐसे ही मिलने गया तो वो और मैं साथ में बैठ कर टीवी में गेम खेलने लगे | वो खेलते खेलते मुझे चिपक रहा था और मुझे भी अच्छा लग रहा था | फिर वो मुझसे एक दम टच हो गया और ऐसा नाटक कर रहा था जैसे मुझे पता नहीं चल्र रहा था | उसके बाद वो मुझसे चिपक कर अपने हाँथ से मेरे हाँथ टच कर रहा था और मुझे भी ये एहसास अच्छा लग रहा था | फिर वो अपने एक हाँथ को मेरी जांघ के ऊपर चलाने लगा तो मैं गरम होने लगा |

अब मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैंने उससे बोल ही दिया कि ये सब करने से कुछ नही होगा अगर करना है तो अच्छे से करते हैं जिसमे दोनों को मजा आएगा | मेरी बात सुन कर उसके भी कान खड़े हो गए और आँखों में चमक आ गई | फिर उसने मेरे होंठ से अपने होंठ लगा दिए और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा | हम दोनों एक दम चुदाई में मगरूर हो जाना चाहते थे | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके लंड को सहलाने लगा और वो भी मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को सहलाने लगा | हम दोनों ने एक दूसरे को करीब 10 मिनट तक किस किया और उसके बाद एक एक करके हम दोनों अपने कपड़े उतार के नंगे हो गए | मेरा लंड उसके लंड से ज्यादा बड़ा था तो उसको शर्म आने लगी तो मैंने उसे कहा कि देख भाई इससे कुछ नहीं होता चलता है और फिर मैं अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ कर उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगा |

जब उसका लंड खड़ा हुआ तो मैंने उसके लंड को चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैं उसके लंड को चाट कर गीला कर रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते ये मेरे सिर के बालो को सहला रहा था | उसके बाद मैं उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | मैं उसके लंड को चूसते हुए उसके सीने को हाँथ से सहला रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह पर अपने लंड से वार किये जा रहा था | फिर मैं उसके अन्टोलो को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा लंड को हिलाते हुए और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे कंधे पर अपने नाखुन गड़ाने लगा | उसके बाद उसने मुझे लेटा दिया और मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने सीने पर हाँथ फेरने लगा |

वो मेरे लंड को अपनी जीभ चारो तरफ फेरते हुए चाट रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद वो मेरे लंड के सुपाड़े को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था | वो मेरे लंड को धीरे धीरे हाँथ से ऊपर नीचे करते हुए चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपने लंड पर दबा रहा था | उसके बाद उसने मेरी टांगो को फैला दिया और अपने लंड को मेरी गांड में डाल कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए गांड चुदाई के मजे लेने लगा | वो मेरी गांड को जोर जोर से चोद रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने लंड को हिला रहा था | उसके बाद उसने अपना माल मेरी गांड में डाल दिया |

कुछ देर बाद आराम करने के बाद मैंने उसको घोडा बना दिया और फिर उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया और चोदने लगा धक्के लगाते हुए और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैं जोर जोर से उसकी गांड मार रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रहा था | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसके मुंह में छोड़ दिया | उसके बाद हम दोनों कई बार चुदाई कर चुके हैं |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | कैसी लगी ये तो मैं नहीं पूछुंगा क्यूंकि आप लोग अगर गे होगे तभी अच्छी लगेगी |